आखिर एशिया कप में क्यों डूबी टीम इंडिया की लुटिया, जानिए इसकी वजहों को

भारत एशिया कप से लगभग बाहर हो गई है, अब लगता है कि मात्र इसकी औपचारिक घोषणा होनी बाकी रह गई है।  क्योंकि जब आपको फाइनल में राह बनाने के लिए टॉप 4 राउंड में कम से कम 2 मैच जीतने थे, वहां आप इस आशा के साथ कि आप अपना अंतिम मैच बड़े अंतर से जीत लें और बाकी के 2 मैचों के रिजल्ट भी आपके अनुकूल आएं, लगभग असम्भव सा लगता है।  यदि एक मैच में आप दूसरों पर निर्भर होते तो ये सम्भव था, लेकिन 3 बार रिजल्ट आपकी अपेक्षा के अनुरूप आएं, काफी मुश्किल लगता है। खैर जो होना था हो गया, अब समय है, इन गलतियों से सबक लेकर

author-image
By puneet sharma
New Update
आखिर एशिया कप में क्यों डूबी टीम इंडिया की लुटिया, जानिए इसकी वजहों को

भारत एशिया कप से लगभग बाहर हो गई है, अब लगता है कि मात्र इसकी औपचारिक घोषणा होनी बाकी रह गई है।  क्योंकि जब आपको फाइनल में राह बनाने के लिए टॉप 4 राउंड में कम से कम 2 मैच जीतने थे, वहां आप इस आशा के साथ कि आप अपना अंतिम मैच बड़े अंतर से जीत लें और बाकी के 2 मैचों के रिजल्ट भी आपके अनुकूल आएं, लगभग असम्भव सा लगता है। 

यदि एक मैच में आप दूसरों पर निर्भर होते तो ये सम्भव था, लेकिन 3 बार रिजल्ट आपकी अपेक्षा के अनुरूप आएं, काफी मुश्किल लगता है। खैर जो होना था हो गया, अब समय है, इन गलतियों से सबक लेकर आगे देखने का, क्योंकि वर्ल्ड कप भी ज्यादा दूर नहीं है। आइए जानते हैं इस एशिया कप में टीम इंडिया की लुटिया डुबोने वाली वजह को -

1 - चयनकर्ताओं द्वारा गलत कॉम्बिनेशन और गलत टीम का चयन

publive-image

हमने पहले भी आपको बताया था, कि एशिया कप के लिए चुनी गई टीम का कॉम्बिनेशन ही गलत था, टीम में मात्र 3 विशेषज्ञ फ़ास्ट बॉलर चुने गए थे और मात्र एक तेज गेंदबाजी करने वाला आलराउंडर था। बाकी सारे गेंदबाजी विकल्प स्पिन डालने वाले गेंदबाज थे। जबकि एशिया कप में अब तक हुए मैचों में पिचों ने स्पिनरों से ज्यादा तेज गेंदबाजों की मदद की है। हालांकि शुरुआती मैचों में जीत के कारण ये कमी टीम ने छुपा ली थी, लेकिन टीम की हार के बाद अब ये कमियाँ खुलकर सामने आ गई हैं।

2 - योग्य खिलाड़ियों को नजरअंदाज करके सलेक्ट ना करना 

टीम की इस कमी का भी ज़िक्र हम पहले भी कर चुके हैं कि एशिया कप के लिए टीम में चुने हुए कुछ खिलाड़ी टीम में चयन के हकदार नहीं थे, जैसे कि आवेश खान, आर आश्विन आदि। चयनकर्ता यदि इनकी जगह चयन के योग्य खिलाड़ियों दीपक चाहर, कुलदीप यादव और मोहम्मद शामी, शुभमन गिल आदि का टीम में चयन करते तो इससे टीम को ज्यादा फायदा होता। पिछले मैचों में जीत के कारण इस कमी पर भी पर्दा डल गया था, लेकिन टीम की हार के बाद अब ये कमियाँ खुलकर सामने आ गई हैं। 

3 -मैनेजमेंट के खराब निर्णय

publive-image

टीम के कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड लगातार खराब निर्णय लेते दिखे। उनके निर्णयों में जरा भी परिपक्वता नज़र नहीं आई। महत्वपूर्ण अवसरों पर टीम के लिए आवश्यक खिलाड़ियों दिनेश कार्तिक, रवि विश्नोई और अक्षर पटेल को टीम में न लेकर उन्हें नजरअंदाज करना, टीम इंडिया को बहुत भारी पड़ा। इस एशिया कप में इसकी कीमत टीम इंडिया को हारकर चुकानी पड़ी।

4 -रोहित शर्मा की नौसिखिया वाली कप्तानी

इस एशिया कप में रोहित की कप्तानी बिल्कुल नौसिखिए सी लगी। उनकी कप्तानी में जरा भी मेच्योरिटी नज़र नहीं आई। वो लगातार अपनी पिछली गलतियों को दोहराते रहे। वो चाहे अपने गेंदबाजो के पिटने के बावजूद भी लगातार दो मैचों में अपने छठे विकल्प को इस्तेमाल न करना हो, और वो भी तब जब स्पिनर श्रीलंकाई बल्लेबाजों पर हावी हो रहे हों, बिल्कुल ही समझ से परे है। या फिर इसी तरह पिछले मैच में 19वें ओवर में भुवी के पिटने के बावजूद भी श्रीलंका के खिलाफ फिर से उन्हें 19वां ओवर थमाने का निर्णय हो, ये निर्णय कहीं से भी समझदारी वाला निर्णय नहीं लगते हैं।

5 - खिलाड़ियों के आपसी मतभेद 

publive-image

पिछले कुछ समय से खिलाड़ियों के आपसी मतभेद की खबरें भी आ रही हैं। बताया जा रहा है कि बड़े खिलाड़ी ऋषभ पंत, हार्दिक पाण्ड्या और विराट कोहली अपनी अलग ही राह पकड़े हुए हैं। ऋषभ और कप्तान रोहित की कहासुनी की वीडियो काफी वायरल भी हुई हैं। इसी तरह महत्वपूर्ण टूर्नामेंट के बीच में कोहली की बेवजह की बयानबाजी भी बताती हैं कि टीम इंडिया में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। 
 

Latest Stories